शनिवार, जनवरी 10, 2015

विश्व हिंदी दिवस 2015

पहला विश्व हिंदी सम्मेलन नागपुर में 10जनवरी 2006 को आयोजित किया गया था और तब से हर साल 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। विदेश मंत्रालय ने भारतीय मिशन/पोस्ट के माध्यम से विदेशों में भाषा के रूप में हिंदी का प्रचार करने के लिए प्रयास कर रहा है। वर्तमान में, हिंदी भाषा दुनिया भर के 20 से अधिक देशों में बोली जाती है और दुनिया के 150 विश्वविद्यालयों में पढ़ाई जा रही है। भारत में हिंदी का प्रचार-प्रसार टेलिविज़न, हिंदी सिनेमा और हिंदी मीडिया के माध्यम से निर्बाध रूप से हो रहा है परंतु स्कूलों में हिंदी भाषा का स्तर निरंतर गिरता जा रहा है। हिंदी अध्यापकों को हिंदी का भाषा वैज्ञानिक एवँ व्याकरणिक प्रशिक्षण आवश्यक है। हिंदी वर्तनी में मानकता व एक रूपता का अभाव है। इस पर भी ध्यान देना ज़रूरी है। इस बारे में परिषद के इसी ब्लॉग पर विस्तृत लेख छापे जा चुके हैं उनको पढ़ा जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

क्या रुपए का नया प्रतीक क्षेत्रीयता का परिचायक है?